1. ज़ख्मी तो दोनों हुए, क्या हिंदू क्या मुसलमान |
     दीन-धरम नही जानते, ये बम-फोड़ू शैतान || 




  2.   चला मोर्चा दिल्ली को, लिए हाथ में तख्ती |
     अब भीड़ बताया करती है,किसकी कितनी हस्ती ||




  3.  हिंदू मुस्लिम की पहचान, खूब कराता है दंगा |
     खुदा भी डर जाता है, जब इन्सां हो जाए नंगा ||




  4.  प्रमोशन की लिस्ट में,  देखो बन्दर बाँट |
     मंत्री के रिश्ते में आ, या फिर तलवे चाट ||




  5.  मंत्री से संतरी तक, सबके सब हैं  भष्ट |
     गाड़ी कमाई जनता की, नित कर रहे नष्ट || 




  6.  देख दुर्दशा देश की, स्वर्ग में गांधी रोय |
     खादी वाले गुंडों से, कैसे छुटकारा होय ||




  7.  गठबंधन सरकार के, नियम न मोहे सुहाय |
     छोटी मछली तालाब की, बड़ी मछली को खाय ||

Advertisements